आधार पर सुनवाई सुप्रीम कोर्ट ने लिया बड़ा फैसला |

आधार पर सुनवाई सुप्रीम कोर्ट ने लिया बड़ा फैसला |

आधार कार्ड से लोगों की निजता का हनन होता है या नहीं इस पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ बुधवार को फैसला सुनाते हुए कई जरूरी और अहम बातें कहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि बैंक खाता खोलने के लिए अब आधार जरूरी नहीं है। आधार की अनिवार्यता को 31 याचिकाओं के जरिए चुनौती दी गई थी और इस पर करीब चार महीने तक बहस चली।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कुछ शर्तों के साथ आधार वैध। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी तय कर दिया है कि आधार कार्ड की अनिवार्यता कहां होगी और कहां इसके अनिवार्यता को कोर्ट ने रद्द कर दिया है।

यंहा नही होगी आधार की आवश्यकता

-आधार को मोबाइल से लिंक करना जरूरी नही |

-बैंक खाते से आधार को लिंक करने के फैसले को कोर्ट ने रद्द कर दिया |

-स्कूलो में एडमिशन और बोर्ड एग्जाम के लिए आधार जरुरी |

-यूजीसी और निफ्ट जैसी संस्थाए आधार नही मांग सकती |

-प्राइवेट पार्टी भी डेटा नही देख सकती है |

-आधार के मेटा डेटा का भण्डारण या उपयोग नही किया जा सकता | प्रमाणीकरण पर डेटा केवल 6 वर्षो के लिए बनाए रखा जाएगा |

-आधार से पेन कार्ड को जोड़ने का फैसला बरकरार