मंत्रों का जाप कर हत्या करने वाले सीरियल किलर की खौफनाक कहानी

मंत्रों का जाप कर हत्या करने वाले सीरियल किलर की खौफनाक कहानी
जब जब वो आंखें बंद करता और मन ही मन मंत्रों का उच्चारण करने लगता, तब तब ये तय हो जाता कि फिर कहीं कोई वारदात होने वाली है और जब मंत्रों का ये जाप 108 बार होता। तब तो ये तय हो जाता कि फिर किसी बेगुनाह की मौत आने वाली है। हरियाणा पुलिस ने तंत्र मंत्र वाले जिस सीरियल किलर को गिरफ्तार किया है, वो देश के 50 शहरों में अब तक 7 हत्याएं कर चुका है, 600 से ज़्यादा लूट की वारदातों को अंजाम दे चुका है। मगर उसकी ये सनक अब भी कम नहीं हुई। वो भी तब जब वो लूटपाट जैसे गुनाहों में कम से कम 40 बार जेल भी जा चुका है।
 
7 लोगों को मौत के घाट उतारा, हर कत्ल के पहले करता था काली मां का जाप। उसने 50 शहरों में की है 600 चोरियां। देश भर की दस जेलों में बिताया है वक़्त. याद नहीं कि उसने कितनी बार की जेल यात्रा। उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं। उसने पैसे के लिए तमाम वारदातों को दिया अंजाम।
 
पुलिस की पकड़ में आए उस पतले-दुबले आदमी को देखकर शायद ही किसी को डर लगे। बदन की बनावट से ही अंदाजा लगता है कि दुबला-पतला ये इंसान किसी को किस हद तक नुकसान पहुंचा सकता है, लेकिन जब ये अपने मुंह से अपने गुनाह का इकबाल करता है तो अच्छे-अच्छे लोगों की रुह कांप जाती है।
 
इसका नाम है जगतार सिंह। सीरियल किलर जगतार सिंह। इसका अपराधिक इतिहास 20 साल से भी पुराना है। जिस दौरान इसने देश भर के 50 शहरों में 7 हत्याएं, 600 लूट, चोरी और स्नैचिंग की वारदात को अंजाम दिया। इसने पहला कत्ल साल 2005 में किया था और इसे अपने किए गए हर कत्ल का साल और तारीख याद है।
 
उसको खुद याद नहीं है कि इससे पहले वो कितनी बार गिरफ्तार हो चुका है। फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच ने जब इसको पकड़ा तो उसे जरा भी अंदाजा नहीं था कि उसके हाथ किस सीरियल किलर पर पड़े हैं। जगतार की मानें तो अपने क्राइम करियर में ये पहली बार है, जब उसने गुनाहों को पुलिस के सामने कबूला हो।जगतार के काम करने का तरीका कुछ खास नहीं था। हां एक बात खास थी वो थी उसका अकेले ही वारदात को अंजाम देना।
 
जगतार अकेले ही वारदात करता था। उसने अपना कोई गैंग नहीं बनाया, वो सुनसान जगहों पर वारदात करता था। धारदार हथियार के बल पर लूटपाट करता था। ज्यादातर लोग उसको सामान सौंप दिया करते थे, जो जगतार का विरोध करते थे वो उन पर हमला कर देता था। वो हत्या में सूआ, चाकू, कैंची और दूसरे हथियारों का इस्तेमाल करता था। वारदात के बारे में वो किसी को नहीं बताता था। एक जगह पर ज्यादा दिन तक नहीं रहा करता था। बार-बार जगह बदलने की वजह से पुलिस की रडार पर नहीं आ पाता था।
 
फरीदाबाद पुलिस जगतार की गिरफ्तारी को वो अपनी बड़ी कामयाबी मान रही है। उसने तमाम थानों की पुलिस को जगतार की गिरफ्तारी की इत्तिला दी है, जिनके इलाकों में उसने वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस को उम्मीद है कि जगतार से पूछताछ के बाद कुछ और भी वारदात का खुलासा हो सकता है। जो अभी तक एक राज़ बनकर ही रह गई थीं।