स्कूली छात्राओं को सिखाए छेड़छाड़ की घटनाओं से निपटने के गुर

स्कूली छात्राओं को सिखाए छेड़छाड़ की घटनाओं से निपटने के गुर
स्कूल की मासूम छात्राओं के साथ बढ़ती हैवानियत की हरकतों से राजस्थान में बालिकाओं की स्थिति चिंताजनक हो गई है. स्कूली छात्राओं के साथ छेड़छाड़ के मामले में राजस्थान नेशनल क्राइम ब्यूरो की रिपोर्ट में तीसरे पायदान पर आ गया है. जयपुर पुलिस आयुक्त कार्यालय और इनाया फाउंडेशन की ओर से मासूम स्कूली छात्राओं के साथ हो रही छेड़छा़ड की घटनाओं पर अंकुश लगाने की कवायद शुरू की गई है.
 
इनाया फाउंडेशन ने पचास से ज्यादा स्कूलों की करीब साढ़े सात सौ स्कूली छात्राओं को छेड़छाड़ की घटनाओं से निपटने के गुर सिखाए हैं. पुलिस आयुक्त संजय अग्रवाल की उपस्थिति में कमिश्नरेट डीसीपी हेडक्वार्टर तेजस्वनी गौतम ने स्कूली छात्राओं की हौसला अफजाई की है. रविन्द्र मंच पर आयोजित कार्यक्रम में इनाया फाउंडेशन की ओर से कठपुतली नृत्य और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए छात्राओं को "अच्छा स्पर्श और गलत स्पर्श " की जानकारियां दी गई